B Pharma Course in Hindi । B Pharma Course Details in Hindi

मेडिकल क्षेत्र में करियर बनाने वाले छात्रों के लिए काफी सारे अवसर होते हैं लेकिन उनमें से कुछ छात्र बी फार्मा कोर्स के बारे के बारे में जानना चाहते हैं कि आखिर यह कोर्स क्या है? कौन इसे कर सकता है? बहुत सारे सवाल? तो आइए जानते हैं इस कोर्स के बारे में।

बीफार्मा एक कोर्स है जिसका संबंध मेडिसिन से है। यानी अगर आपकी रुचि मेडिसिन फील्ड में करिअर बनाने की है तो आप बी फार्मा कर सकते हैं और इससे जुड़ी सारी जरूरी जानकारी इस आर्टिकल B Pharma Course Details in Hindi में आपको मिल जायेंगी।

B Pharma Course Details in Hindi
B Pharma Course Details in Hindi

B Pharma Kya hai (B Pharma Course Details in Hindi)

सबसे पहले जानते हैं कि बीफार्मा क्या है? बी फार्मा की फुल फॉर्म है बैचलर ऑफ फार्मेसी। यह एक अंडर ग्रैजुएट फार्मेसी कोर्स है। इस डिग्री कोर्स की अवधि चार वर्ष की होती है जिसमें हर संस्थान के हिसाब से पाठ्यक्रम को छह से आठ सेमेस्टर्स में पूर्ण किया जाता है।

तो इस कोर्स में मूल रूप से दवाइयों से संबंधित सारी जानकारियां दी जाती है जैसे की दवाओं का उपयोग कैसे किया जाता है? कौन सी बिमारी में कौन सी दवाई का उपयोग चाहिए? दवाएं कैसे बनती है इसकी सारी जानकारी आपको इस कोर्स में दी जाती है।

फार्मेसी ऐसा साइंस है जिसके तहत दवाईयों से जुड़ी रिसर्च और टेस्ट किए जाते हैं। हर बार जब किसी बिमारी के लिए इलाज खोजा जाता है तो फार्मेसी ही वह फील्ड है जो उस इलाज के लिए बनाई गई दवाओं को टेस्ट करता है और उन पर रिसर्च भी करता है ताकि उन दवाइयों के प्रभाव और दुष्प्रभाव को जाना जा सके और उसे उपचार के लिए उपलब्ध कराया जा सके।

फार्मेसी स्वास्थ्य सेवा उद्योग का एक बहुत ही महत्त्वपूर्ण भाग होता है। ये ना केवल दवाईयों की परिक्षण करता है बल्कि दवा को बनानें, मैन्युफैक्चर करने और मार्केट में सप्लाई करने का काम भी करता है।

B Pharma Course के लिए योग्यता

बीफार्मा करने के लिए क्राइटिरिया क्या होता है। बी फार्मा कोर्स में ऐडमिशन लेने के लिए 12वीं कक्षा पीसीएम या पीसीबी भौतिकी, रसायन और जीव विज्ञान विषयों से मिनिमम 45% से 50% के साथ उत्तीर्ण की हो।

इसके अलावा जिंस संस्थान या यूनिवर्सिटी से आप यह कोर्स करना चाहते हैं वहाँ ऐडमिशन का मिनिमम अंको का क्राइटिरिया भी अलग अलग हो सकता है जिसका आपको पालन करना होगा।

ऐसी कोई मांग तो नहीं होती, लेकिन अगर बी फार्मा कोर्स करने वाले छात्र में यह स्किल्स हैं तो अच्छी बात है। वैसे तो हर स्टूडेंट का तेज दिमाग और प्लान होना ज़रूरी होता है।

लेकिन बी फार्मा कोर्स थ्योरी के साथ साथ प्रैक्टिकल कोर्स भी है जिसमें नवाचार और अनुसंधान कार्य काफी ज्यादा होता है। तो ऐसे में छात्र का मेडिसिन और वैज्ञानिक अनुसंधान में रुचि और समझ होनी चाहिए।

B Pharma Course Ki Admission Process

अब आगे बात करते हैं दाखिला लेने की प्रक्रिया के बारे में बहुत सी यूनिवर्सिटीज़ बी फार्मा में दाखिले के लिए प्रवेश परीक्षा को आयोजित करती है, जिसके बाद कुछ कॉलेज में पर्सनल इंटरव्यू और काउंसलिंग भी की जाती है।

कुछ प्रवेश परीक्षा के नाम इस प्रकार है बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (BHU) प्रवेश परीक्षा, GPAT प्रवेश परीक्षा, MHT CET प्रवेश परीक्षा, WBJEE प्रवेश परीक्षा, NEET UG प्रवेश परीक्षा, BITSAT प्रवेश परीक्षा इत्यादि।

बी फार्मेसी में कौन कौन से सब्जेक्ट आते हैं?

बी फार्मेसी में कोन से महत्त्वपूर्ण सब्जेक्ट होते हैं यह भी आपको पता होना चाहिए तथा इस कोर्स में कुल आठ सेमेस्टर होते है। यह रहे बी फार्मा के विषय –

  • मानव शरीर रचना विज्ञान और फिजियोलॉजी
  • फार्मास्युटिकल इंजीनियरिंग
  • औद्योगिक फार्मेसी
  • बायोकैमिस्ट्री
  • फार्मास्युटिकल विश्लेषण
  • फार्मास्युटिकल माइक्रोबायोलॉजी
  • फार्मास्युटिकल अकार्बनिक रसायन विज्ञान
  • फार्मास्युटिकल कार्बनिक रसायन विज्ञान
  • फार्माकोग्नोसी और फाइटोकेमिस्ट्री
  • बायोफार्मास्यूटिकल और फार्माकोकाइनेटिक्स
  • फार्मेसी फार्माकोलॉजी
  • उपचारात्मक जीवविज्ञान
  • उपचारात्मक गणित
  • भौतिक चिकित्सा में कंप्यूटर अनुप्रयोग

B Pharma 1st Year सिलेबस

  • मानव शरीर रचना विज्ञान और शरीर क्रिया विज्ञान
  • औषध बनाने की विद्या
  • फार्मास्युटिकल अकार्बनिक रसायन विज्ञान
  • उपचारात्मक जीवविज्ञान
  • उपचारात्मक गणित
  • फार्मास्युटिकल विश्लेषण
  • जीव रसायन
  • फार्मेसी में कंप्यूटर अनुप्रयोग
  • पैथोफिजियोलॉजी
  • मानव शरीर रचना विज्ञान और शरीर क्रिया विज्ञान
  • पर्यावरण विज्ञान
  • फार्मास्युटिकल ऑर्गेनिक केमिस्ट्री

B Pharma 2nd Year सिलेबस

  • भौतिक
  • फार्मास्युटिकल माइक्रोबायोलॉजी
  • फार्मास्युटिकल इंजीनियरिंग
  • फार्मास्युटिकल ऑर्गेनिक केमिस्ट्री
  • औषधीय रसायन शास्त्र
  • औषध विज्ञान
  • फार्माकोग्नॉसी और फाइटोकेमिस्ट्री

B Pharma 3rd Year सिलेबस

  • औद्योगिक फार्मेसी
  • फार्मास्युटिकल न्यायशास्त्र
  • औषधीय रसायन शास्त्र
  • हर्बल्स D… टेक्नोलॉजी
  • फार्मास्युटिकल बायोटेक्नोलॉजी
  • फार्माकोलॉजी
  • औषधीय रसायन शास्त्र

B Pharma 4th Year सिलेबस

  • उपन्यास दवा वितरण प्रणाली
  • विश्लेषण के वाद्य तरीके
  • औद्योगिक फार्मेसी
  • फार्मेसी अभ्यास कंप्यूटर
  • एडेड D….. डिजाइन
  • जैव सांख्यिकी और अनुसंधान पद्धति
  • आहार की खुराक और न्यूट्रास्यूटिकल्स
  • जड़ी – बूटियों का गुणवत्ता नियंत्रण और मानकीकरण
  • फार्माकोविजिलेंस
  • सेल और आण्विक जीवविज्ञान
  • कॉस्मेटिक प्रायोगिक औषध विज्ञान
  • उन्नत इंस्ट्रुमेंटेशन तकनीक
  • आहार की खुराक और न्यूदास्यूटिकल्स
  • फार्मास्युटिकल रेगुलेटरी साइंस
  • सामाजिक और निवारक फार्मेसी
  • द्वारिक प्रशिक्षण
  • योजना कार्य

B Pharma Course Ke Liye College

कुछ छात्र को प्रवेश परीक्षा में रैंक के आधार पर कॉलेज दिया जाता हैं यह आपके द्वारा की गई चॉइस फिलिंग और मेरिट लिस्ट पर भी निर्भर करता हैं। यह रहे भारत के कुछ सर्वश्रेष्ठ कॉलेजेस जो की बी फार्मेसी कोर्स उपल्ब्ध करवातें हैं –

  • बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (BHU) वाराणसी
  • यूनिवर्सिटी इंस्टिट्यूट ऑफ फार्मसूटिकल साइन्सेस चंडीगढ़
  • इन्स्टिट्यूट ऑफ केमिकल टेक्नोलॉजी, मुंबई
  • मणिपाल कॉलेज ऑफ फार्मास्युटिकल साइन्सेज़ मणिपाल
  • जेएस कॉलेज ऑफ फार्मेसी नीलगिरीस तमिलनाडु
  • जयपुर नेशनल यूनिवर्सिटी (JNU) जयपुर
  • इंटीग्रल यूनिवर्सिटी लखनऊ (IUL)
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (IIT) वाराणसी
  • MET यूनिवर्सिटी नोएडा
  • बॉम्बे कॉलेज ऑफ फार्मेसी, मुंबई
  • श्री रामचंद्रा इन्स्टिट्यूट ऑफ हाइयर एजुकेशन ऐंड रिसर्च, चेन्नई
  • महाराजा सयाजीराव यूनिवर्सिटी ऑफ बरोदा आदि।

बी फार्मा की 1 साल की फीस कितनी है?

अगर आप बी फार्मा कोर्स को करना चाहते हैं तो आपके मन में सवाल जरूर आएगा की बी फार्मा कोर्स की फीस कितनी होती है? इस कोर्स की फीस की तो यदि आप प्रवेश परीक्षा में अच्छी रैंक हासिल कर किसी सरकारी कॉलेज से इस कोर्स को करते हैं तो बहुत ही कम फीस में यहाँ पर आपको फार्मा कोर्स की डिग्री मिल जाएगी।

वहीं अगर आप किसी प्राइवेट कॉलेज से करते हैं तो वहाँ पर ₹15,000 से 50,000 प्रति वर्ष इस कोर्स की फीस आपको देनी पड़ सकती है। या इससे अधिक भी लग सकती हैं। प्राइवेट कॉलेज की फीस निर्भर करती है की आप किस कॉलेज या राज्य से इस कोर्स को कर रहे हैं।

B Pharma Karne Ke Fayde

अब बात रही है ये जानने की कि बी फार्मा कोर्स करने से एक छात्र को क्या फायदे हो सकते हैं।

बीफार्मा की डिग्री लेने के बाद राज्य की फार्मेसी काउंसिल में रजिस्टर करने के बाद अपनी केमिस्ट शॉप या फार्मेसी शॉप खोली जा सकती है। यानी ये डिग्री कोर्स करने के बाद आप अपनी रुचि का बिज़नेस यानी की मेडिसिन की फील्ड में अपनी शुरुआत कर सकते हैं।

बीफार्मा करने के बाद अगर आप चाहे तो मास्टर्स डिग्री भी ले सकते हैं, जिससे आप किसी एक सब्जेक्ट में विशेषज्ञता हासिल कर लेंगे और आपको मिलने वाले नौकरी के अवसर और कैरिअर के विकल्प काफी ज्यादा बढ़ जाएंगे।

अगर बी फार्मा वाला छात्र टीचिंग की फील्ड में जाना चाहे तो वे फार्मा के बाद लेक्चरर बनने की राह भी आपके लिए खुली है और Government Professor या सहायक की तैयारी भी कर सकते हैं।

वैसे बी फार्मा डिग्री पूरी करने के बाद आप चाहे तो इनमे से कोई कोर्स कर सकते हैं।

  1. मास्टर ऑफ फार्मेसी यानी की M Pharma
  2. फार्मास्युटिकल केमिस्ट्री (MSC)
  3. कोर्स इन क्लीनिकल रिसर्च
  4. D…… स्टोर मैनेजमेंट कोर्स
  5. मैनेजमेंट प्रोग्राम इन फार्मेसी
  6. पोस्ट ग्रैजुएट डिप्लोमा इन क्लीनिकल ट्रायल मैनेजमेंट

B Pharma के बाद जॉब विकल्प

इसी के साथ आप आपको जानना ज़रुरी हैं कि बीफार्मा करने के बाद आप कौन कौन से क्षेत्र में जॉब पा सकेंगे।

  • हॉस्पिटल फार्मेसी
  • टेक्निकल फार्मेसी
  • क्लिनिकल फार्मेसी
  • मेडिकल डिस्पेंसिंग स्टोर रिसर्च एजेंसी
  • एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स
  • फूड ऐंड D….. एडमिनिस्ट्रेशन
  • सेल्स ऐंड मार्केटिंग डिपार्ट्मेन्ट
  • हेल्थ सेंटर्स

और इसी के साथ बी फार्मा के बाद मिलने वाले जॉब विकल्प के बारे में जानने की। तो आप बन सकते हैं –

  • ऐनालिटिकल केमिस्ट
  • हेल्थ इन्स्पेक्टर
  • औषधि चिकित्सक
  • सरकारी अस्पताल फार्मासिस्ट
  • D…… कोऑर्डिनेटर
  • केमिकल टेक्नीशियन
  • फार्मास्यूटिकल साइंटिस्ट
  • क्वालिटी कंट्रोल असोसिएट आदि काफी सारे विकल्प होते है।

यह भी पढ़े:- बी फार्मा के बाद गवर्नमेंट जॉब [ उच्च वेतन ]

Conclusion:- B Pharma Course Details in Hindi

पूरी जानकारी मिल जानें के बाद, आप अपनी रुचि के अनुसार बी फार्मा को करने का निर्णय ले सकते हैं। यह आर्टिकल में उन सभी प्रश्न और प्वाइंट को बताने का प्रयास किया है जो छात्र के लिए महत्वपूर्ण हैं।

आशा करते हैं कि B Pharma Course Details in Hindi के बारे में जानकारी आपको अच्छी लगी होगी और इस आर्टिकल को शेयर जरुर करें।

Leave a Comment